Home शहर मैं गाँव मैं Shahar Mein Gaon Mein Lyrics in Hindi

शहर मैं गाँव मैं Shahar Mein Gaon Mein Lyrics in Hindi

by hindioldsongs

Shahar Mein Gaon Mein lyrics in Hindi from Movie Yalgaar 1992 starring Feroz Khan, Sanjay Dutt, Kabir Bedi, Manisha Koirala. It has been sung by Kumar Sanu, writted by Sudarshan Faakir and Music is directed by Channi Singh

YouTube video
MovieYalgaar 1992
SingersKumar Sanu
LyricistSudarshan Faakir
Music DirectorChanni Singh
CastFeroz Khan, Sanjay Dutt, Kabir Bedi, Manisha Koirala

शहर मैं गाँव मैं Shahar Mein Gaon Mein lyrics in Hindi

शहर मैं गाँव मैं,
धूप मैं छाँव मैं
शहर मैं गाँव मैं,
धूप मैं छाँव मैं
खुद को रोका बहुत,
फिर भी सोचा बहुत
खुद को रोका बहुत,
फिर भी सोचा बहुत
ज़िंदगी कौन हैं
बंदगी कौन हैं
ज़िंदगी कौन हैं
बंदगी कौन हैं
उफ़ तुम्हारा शबाब
दे रहा हैं जवाब
ज़िंदगी हो तुम्ही,
बंदगी हो तुम्ही
ज़िंदगी हो तुम्ही,
बंदगी हो तुम्ही

एक शाहजदी हैं,
नाम हैं शायरी
एक शाहजदी हैं
नाम हैं शायरी
इसकी महफ़िल मैं हैं
हर तरफ दिलकशी
शेर सुनते रहे
फिर भी उलझे रहे
शायरी कौन हैं
दिलकशी कौन हैं
उफ़ तुम्हारा शबाब
दे रहा हैं जवाब्शयरी हो तुम्ही,
दिलकशी हो तुम्ही
ज़िंदगी हो तुम्ही,
बंदगी हो तुम्ही
शहर मैं गाँव मैं,
धूप मैं छाँव मैं

सुबह बेजान हैं,
रोशनी जब नहीं
सुबह बेजान हैं,
रोशनी जब नहीं
रात वीरान हैं
चंदनी जब नहीं
हमको सब थी खबर,
दिल ने पूछा मगर
रोशनी कौन हैं,
चंदनी कौन हैं
उफ़ तुम्हारा शबाब
दे रहा हैं जवाब
रोशनी हो तुम्ही,
चंदनी हो तुम्ही
ज़िंदगी हो तुम्ही,
बंदगी हो तुम्ही
शहर मैं गाँव मैं,
धूप मैं छाँव मैं
शहर मैं गाँव मैं,
धूप मैं छाँव मैं
शहर मैं गाँव मैं,
धूप मैं छाँव मैं
शहर मैं गाँव मैं,
धूप मैं छाँव मैं.

शहर मैं गाँव मैं Shahar Mein Gaon Mein lyrics in English

Shahar mein gaon mein,
Dhoop mein chhanv mein
Shahar mein gaon mein,
Dhoop mein chhanv mein
Khud ko roka bahut,
Phir bhi socha bahut
Khud ko roka bahut,
Phir bhi socha bahut
Zindagi kaun hain
Bandagi kaun hain
Zindagi kaun hain
Bandagi kaun hain
Uff tumhara shabaab
De raha hain javab
Zindagi ho tumhi,
Bandagi ho tumhi
Zindagi ho tumhi,
Bandagi ho tumhi

Ek shahjadi hain,
Naam hai shayari
Ek shahjadi hain
Naam hai shayari
Iski mahfil mein hain
Har taraf dilkashi
Sher sunte rahe
Phir bhi uljhe rahe
Shayari kaun hain
Dilkashi kaun hain
Uff tumhara shabab
De raha hai javabShayari ho tumhi,
Dilkashi ho tumhi
Zindagi ho tumhi,
Bandagi ho tumhi
Shahar mein gaon mein,
Dhoop mein chhanv mein

Subah bejaan hain,
Roshani jab nahin
Subah bejaan hain,
Roshani jab nahin
Raat viraan hain
Chandani jab nahin
Hamko sab thi khabar,
Dil ne puchha magar
Roshani kaun hain,
Chandani kaun hain
Uff tumhara shabaab
De raha hain javab
Roshani ho tumhi,
Chandani ho tumhi
Zindagi ho tumhi,
Bandagi ho tumhi
Shahar mein gaon mein,
Dhoop mein chhanv mein
Shahar mein gaon mein,
Dhoop mein chhanv mein
Shahar mein gaon mein,
Dhoop mein chhanv mein
Shahar mein gaon mein,
Dhoop mein chhanv mein.